Tiktok के चाहने वालो के लिए एलन मस्क ला रहे है Vine एप ,एक टाइम लोकप्रियता देख कर घबरा गए थे फेसबुक के फाउंडर

  
elon musk vine app

कई ऐसे ऑनलाइन प्लेटफार्म है ,जिसपर लोग विडियो बनाकर काफी फेमस हो गए है। वहीं, आज से कुछ साल पहले टिक टॉक (TikTok) पर लोग काफी विडियो बनाते थे। लेकिन किसी कारणवश इस प्लेटफार्म को बंद कर दिया गया। जिसके बाद कई ऐसे ऑनलाइन प्लेटफार्म आए जिसपर लोग विडियो बनाने लगे। अब ऐसा ही फिर से इन टिक टॉक प्रेमियों के लिए एक अच्छी खबर समाने आई है। जहा ट्विटर के न्यू मालिक एलन मस्क ने शॉर्ट वीडियो एप वाइन (Vine)  को फिर से स्टार्ट करने की तैयारी कर दिया हैं। इसको लेकर एलन मस्क ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक "ब्रिंग बैक वाइन" नामक एक पोस्ट भी किया है। उनकी इस पोस्ट से जाहिर है कि वो फिर से इस ऐप शुरू करने वाले है। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि,  टिकटॉक तथा इंस्टाग्राम से पूर्व वाइन एप था ,जिसपर लोग शॉर्ट वीडियो बनाने थे। लेकिन टिक टॉक आने के बाद लोगो का रुझान उस तरफ काफी देखने को मिला । वहीं,उनके इस पोस्ट से ऐसा प्रतीत होता की वो फिर से इस वाइन एप को स्टार्ट करने वाले है। आगे हम आपको इस ऐप से जुड़ी जानकारी विस्तार से बताएंगे। 

एलन मस्क फिर से स्टार्ट करने वाले है वाइन एप

इस एप को वर्ष 2012 में ट्विटर ने खरीद लिया था।  उस दौरान ट्विटर पर किसी भी वीडियो को साझा करने के लिए वाइन एप से किया जाता था। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि, इस एप पर सिर्फ छह सेकेंड तक के ही लूपिंग वीडियो क्लिप साझा किया जा सकता है। उस दौरान इस एप के दो सौ मिलियन से ज्यादा फॉलोवर्स थे। वहीं, प्लेटफोर्म के स्टार्ट होने के पश्चात से अब तक सौ बिलियन लूप इस पर देखे जा चूके है। इस वाइन एप को साल 2016 में बंद कर दिया गया था। अब ट्वीटर के नए मालिक एलन मस्क इस एप को फिर से लाने की तैयारी में जुटे हैं। जिसे लेकर हालही में उन्होंने एक पोस्ट साझा किया था। 

vine

2016 में हो गया था बन्द

इस वाइन एप को साल 2012 में लाया गया था। जिसे डॉम हॉफमैन, रूस युसूपोव व कॉलिन क्रॉल ने संग मिलकर बनाया था। जिसके बाद इस वाइन एप को ट्विटर ने अपने नाम दर्ज कर लिया था। इसके आने के कुछ ही दिनों बाद यह काफी पॉपुलर हो गया। जिसके दौ सौ करोड़ से ज्यादा फॉलोवर्स हो गए थे। यह एप फेसबुक पर काफी आधारित था। यही वजह थी कि, फेसबुक ने इसकी पॉपुलैरिटी को देख एपीआई एक्सेस स्टॉप कर दिया था। मतलब वाइन एप यूजर्स अपने फेसबुक अकाउंट इससे जोड़ नहीं पाते थे। वहीं, कुछ समय बाद इस एप की पॉपुलैरिटी घटने लगी। जिसके बाद इस ऐप को साल 2016 में बंद कर दिया गया था। अब देखना काफी दिलचस्प होगा कि क्या ट्विटर के न्यू मालिक इस एप को फिर से रिस्टार्ट करने वाले है या नहीं?