अम्बाला से शामली सिक्स लेन निक्लेंगा करनाल के इन 4 गावो से , देखिये पूरी डिटेल

  
ambala to shamli six lane

उत्तर प्रदेश के शामली से अंबाला तक एक्सेस कंट्रोल्ड ग्रीनफील्ड हाईवे का निर्माण अब काफी रफ्तार से शुरू हो चुका है। यह 121 किलोमीटर लंबा हाइवे सिक्स लेन का होगा और इस हाइवे निर्माण के लिए तीन अलग  कंपनियों ने अलग भागो में अपनी मशीनरी स्थापित कार्य शुरू कर दी है। यह पंजाब, हरियाणा व उत्तर प्रदेश के बीच सड़क को कनेक्ट  करने वाला यह हाइवे करनाल डिस्ट्रिक्ट की बॉर्डर से होकर चार ग्रामीण इलाकों से गुजरेगा। जिसका निर्माण कार्य अब काफी तेज़ी से होने लगा है। 

 

शामली अंबाला हाईवे का कार्य हुआ शुरू

 

यह हाईवे शामली, सहारनपुर इलाके से होते हुए करनाल, कुरुक्षेत्र से अम्बाला को कनेक्ट करेगा। जिससे की गाड़ियों की यात्रा कम होगी और करनाल डिस्ट्रिक्ट से जाने वाली गाड़ियों का बोझ हलका होगा। इस मिशन को करने में करीब 4600 करोड़ रुपये लगे है। जिसमें से 3200 करोड़ रुपये सिविल काम के लिए और बाकी बचे 14 सौ करोड़ रुपए जमीन अधिग्रहण के लिए है। इस परियोजना को पूरा करने में कुल 46 सौ करोड़ रूपए खर्च किए जा रहे है। 

six lane

ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगो की दिक्कते होगी दूर

प्रदूषण राज्य नियंत्रण बोर्ड  के ऑफिसर शेलेंद्र अरोड़ा ने एक बातचीत के दौरान कहा कि, शामली से अम्बाला तक सिक्स लेन एक्सेस कंट्रोल्ड ग्रीनफील्ड हाईवे निर्माण का कार्य शुरू हो चुका है। इस हाइवे के बनने से ग्रामीण क्षेत्रों के रहने वाले लोगो तथा किसानों की आपत्तियों को दूर किया गया है। ज्यादातर किसानों ने अधिगृहित जमीन का मुआवजा देने, भूमि विभाजित व पानी की निकास सहित अन्य दिक्कतों को लेकर शिकायतें पेश की थी। जहा अधिकारियों से इन सब दिक्कतों को दूर करने का आश्वासन दिया है। पानी सप्लाई के लिए अंडरग्राउंड पाइपलाइन तथा खेतो में पानी पहुंचने के लिए रास्ता बनाने व अन्य चीज़ों से संबंधित रिपोर्ट मुख्यालय को सौप दी गई है।

इस हाईवे निर्माण के लिए 69 वृक्षों का चयन हुआ था। जिसमे नेवल चौगामा रोड के दोनों तरफ 59, हंसुमाजरा रोड किनारे पांच, खुखनी रोड पर मौजूद पेड़ो की काउंटिंग हुई थी। इसके निर्माण में ज्यादातर भाग कृषि भूमि से होकर जाता है। वन अधिकारी जयकुमार नरवाल ने कहा कि,  विभाग की तरफ से  69 पेड़ों की रिपोर्ट जमा करवा दी गई है और पेड़ो को काटने का काम दूसरी ब्रांच की तरफ से किया जाना है। जिसके बाद यह कार्य शुरू हो जाएगी। बता दें कि, यह राजमार्ग का निर्माण होने से करनाल डिस्ट्रिक्ट के लोगो को भी काफी फायदा होगा और औद्योगिक विकास में भी काफी बढ़ोतरी होगी। जहा व्यापार बढ़ने के साथ ही अर्थव्यवस्था में भी सही होगी। यह हाईवे अंबाला से लेकर कुरुक्षेत्र होते हुए करनाल , सहारनपुर , शामली डिस्ट्रिक्ट की बॉर्डर से होते हुए थाना भवन तक पहुंचेगा।