इंग्लैंड टीम की 5 खूबियां जिन्होंने उन्हें वर्ल्ड चैंपियन बनाया, ये खूबियां अभी भारत के पास नहीं है

  
top 5 merits of england cricket team

13 नवंबर को मेलबर्न क्रिकेट में खेले गए मैच में इंग्लैंड टीम ने जीत हासिल की है। यह टी ट्वेंटी 2022 का फाइनल मुकाबला था जिसमे पाकिस्तान को 5 विकेट से हराकर दूसरी बार टी ट्वेंटी वर्ल्ड कप का खिताब जीत लिया है। वहीं पहली बार किसी टीम के पास एक साथ वनडे और टी-20 दोनों के वर्ल्ड टाइटल हैं। इस वर्ल्ड कप को जीतने के बाद हर तरफ इंग्लैंड टीम चर्चा हो रही है। वही इस बात से भी सबको रूबरू करवाया कि मैच का सबसे छोटा फॉर्मेट कैसे खेला जाता है। इंग्लैंड टीम दो स्ट्रॉन्ग टीम को हराकर इस शिखर तक पहुंचे है। जिसमे फर्स्ट बाबर आजम की टीम जिसकी गेंदबाजी अच्छी थी। और दूसरी रोहित शर्मा की टीम जिसकी बल्लेबाजी शानदार है। इन दोनो टीमों को पीछे कर इंग्लैंड टीम इस मुकाम पर पहुंची हैं।

top 5 merits of england cricket team

इंग्लैंड टीम के पास मैच जीतने की ये है खासियत

इंग्लैंड टीम के पास इस वर्ल्ड कप में जोस बटलर और एलेक्स हेल्स के रूप में दो शानदार ओपनर थे। दोनों ने काफी शानदार शुरुआत की थी। जिसने 6 ओवर में 60 से 70 रन बना लिया करते थे । बात करे भारतीय टीम के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में जहा ये इंग्लैंड के दोनों ओपनर ने तो 169 रन के टारगेट को 16 ओवर में ही बदल डाला था। बिना पवेलियन गए टारगेट पूरी कर दी थी। वहीं पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल में एलेक्स हेल्स भले ही आउट हो गए।  लेकिन जोस बटलर ने 17 बॉल में 26 रन बनाए।

top 5 merits of england cricket team

इंग्लैंड टीम के पास इस वर्ल्ड कप में सात से अधिक गेंदबाजी के विकल्प थे।  इससे कैप्टन जोस बटलर का काम बहुत आसान हो गया था। बेन स्टोक्स, क्रिस वोक्स, सैम करन, आदिल रशीद, लियाम लिविंगस्टोन, मोईन अली और क्रिस जॉर्डन एक अच्छे बॉलर है।

वही टीम इंडिया के पास वर्ल्ड कप में पांच से छः बॉलिंग विकल्प थे। जिसमे अर्शदीप सिंह, मोहम्मद शमी, हार्दिक पंड्या, भुवनेश्वर कुमार, अक्षर पटेल और आर. अश्विन। अश्विन और अक्षर पटेल पूरे टूर्नामेंट में फ्लॉप रहे। वही सेमीफाइनल में जब सभी बॉलर पीट रहे थे। तब कैप्टन रोहित समझ ही नहीं पा रहे थे किसे गेंदबाजी का अवसर दे।

इंडियन ओपनर पूरे वर्ल्ड कप में डिफेंसिव नजर आए।  इंग्लैंड टीम के खिलाफ भारतीय टीम ने सेमीफाइनल के पावरप्ले में केवल 38 रन बनाए थे। भारतीय ओपनर्स ने पावरप्ले में 100 से भी कम के स्ट्राइक रेट से

top 5 merits of england cricket team

रन बनाए। जहा रोहित शर्मा ने पावरप्ले में 95 रन बनाए तो लोकेश राहुल ने 90 के स्ट्राइक रेट के साथ रन बनाए थे।

इंग्लैंड टीम के पास ऐसे बैट्समैन जो अच्छी गेंदबाजी भी करते है

इंग्लैंड टीम के पास टॉप फाइव बैट्समैन में दो ऐसे क्रिकेटर है । जो बैटिंग के साथ ही साथ गेंदबाजी भी कर सकते थे। जिनमे लियाम लिविंगस्टोन और मोईन अली। और बेन स्टोक्स, सैम करन ऑलराउंडर हैं। जो काफी अच्छे प्लेयर्स है। बात करे भारतीय टीम की तो इनके पास ऐसा कोई भी विकल्प नहीं था। उनके पास ऑलराउंडर कम है।  पूरे वर्ल्ड कप में रोहित शर्मा, केएल राहुल, विराट कोहली और सूर्यकुमार यादव ने केवल बल्लेबाजी की है ।

इंग्लैंड टीम के पास इस वर्ल्ड कप में जोस बटलर से आदिल रशीद सभी बल्लेबाजी कर सकते हैं। इंग्लैंड टीम की ओपनर काफी शानदार थे। जो अपने दम पर पूरे मैच जिताने की ताकत रखते थे। इस पूरे टूर्नामेंट में इंग्लैंड टीम ने दिखाया कि फियरलेस मैच क्या होती है? इस टीम ने बेल्लाबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग करते हुए हर जगह बेधड़क होकर खेले। बिना डर के खेलते हुए शुरू से लेकर आखिरी तक टिके रहे। और टी ट्वेंटी वर्ल्ड 2022 का खिताब अपने नाम दर्ज कर लिया।