रिश्तेदारों के तानों से परेशान सूर्या कुमार यादव ने ऐसे बनाई टीम इंडिया में जगह, बांह पर बनवाया है माँ का टैटू

  
Surya Kumar Yadav Tatto

भारतीय टीम के बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव अपनी धाकड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने अक्सर अपनी तूफानी बल्लेबाजी से फैंस का मनोरंज किया है और चर्चा में रहे है। लेकिन इस बार वो किसी और कारण से सुर्खियो में छाए हुए। क्रिकेटर सुर्यकुमार यादव ने अपने हाथ में टैटू बनवाया है।

वो टैटू बनवाने के काफी बड़े शौकीन है और इससे पहले भी कई टैटू बनवा चुके हैं। लेकिन इस बार टैटू बनवाने के बाद सूर्यकुमार यादव ने उसकी तस्वीर भी इंटरनेट पर साझा की है और उनकी यह फोटो सोशल मीडिया पर काफी तेज़ी से वायरल हो रही है। 31 साल के सूर्यकुमार यादव ने अपने माता-पिता के नाम की टैटू बनवाई है। इसके बाद अपने हाथ पर उन्होंने उनकी फोटो भी बनवाई है। जो इन दिनो काफी चर्चा का विषय बना हुआ है।

Surya Kumar Yadav Tatto

सूर्यकुमार यादव अपने माता - पिता को अपना भगवान मानते

सूर्यकुमार यादव अपने माता-पिता को अपना  भगवान मानते हैं। सूर्यकुमार के पिता अशोक कुमार यादव ने एक बातचीत के दौरान हैरान कर देने वाली बाते बताई है। दुनिया के मशहूर बल्लेबाज  सूर्या को उनके रिश्तेदार भी ताने मारा करते थे। जहा लोग उनके पैरेंट्स से कहते थे  क्रिकेट में डालकर जीवन खराब कर रहे हो। अशोक यादव ने सूर्यकुमार के उनकी ताकत, मेहनत और साथ ही उनके गुस्से की स्टोरी भी बताई । आगे हम आपको इस लेख के माध्यम से पूरी कहानी बताएंगे।

Surya Kumar Yadav Tatto

सूर्यकुमार के पिता ने कही ये बात

सूर्यकुमार के पिता ने बताया कि, "आज भले ही मेरा बेटा टी ट्वेंटी में वर्ल्ड नंबर वन खिलाड़ी है।  लेकिन आज से दो वर्ष पहले वो निराश था। ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टीम की चयन की जा रही थी।  उम्मीद थी की सूर्यकुमार वहा अपना जगह बना लेगा। जहा टीम अनाउंस हुई और सूर्यकुमार का नाम नहीं आया। इसके बाद वो काफी निराश हो गया और फिर गुस्से में भी आ गया था। आगे उन्होंने कहा की टीम अनाउंसमेंट के नेक्स्ट डे आईपीएल में सूर्यकुमार की मुंबई इंडियंस टीम का मैच रॉयल चैलेंजर्स के साथ था।

जहा 165 रन का टारगेट बनाकर मुंबई टीम का विकेट लगातार गिर रहा था। लेकिन वहा सूर्या क्रीज पर मौजूद रहे। और 43 बॉल पर 79 रन उन्होंने हासिल की। उस दौरान सूर्या ने दस चौके और तीन छक्के जड़े थे। सूर्या के पिता ने अपने बेटे की तारीफ करते हुए कहा की वो काफी मेहनती और स्ट्रॉन्ग है।"

Surya Kumar Yadav Tatto

आगे सूर्यकुमार के पिता ने बताया कि " सूर्यकुमार जमीन से जुड़े है। वो अपने परिवार को काफी महत्व देते है। सूर्या को बचपन से अपनी मदर से लगाव रहा है। जहां वो मैच खेलने से पूर्व अपनी मां का आशीर्वाद लेकर ही खेलने जाते है। सूर्यकुमार के पिता ने बताया कि सूर्या को बचपन से खेलने का क्रेज है। उनका फोकस स्टडी से ज्यादा खेलने में रहा है। पहले सूर्या बैटमिंटन खेला करते थे और बाद में उनका रुझान क्रिकेट की तरफ हो गया था।

वही मेरे करीबी या आसपास के लोग मुझे या सूर्यकुमार की मदर को ताने भी मारा करते थे। उनका कहना था की इस खेल कूद में कोई भविष्य नहीं है। रिश्तेदारों का भी यही कहना था की इस खेलकूद में इसका जीवन बर्बाद हो जाएगा। लेकिन सूर्या के कोच का कहना था की आपका बेटा होसियार है और एक दिन यह बहुत अच्छा करेगा। और मुझे भी अपने बेटे पर भरोसा था।" बात करे क्रिकेटर की तो सूर्यकुमार आज के समय में एक जानें - माने खिलाड़ी के तौर पर जाने जाते है। जो अपनी बल्लेबाजी से हर किसी को हैरान कर देते है।

Surya Kumar Yadav Tatto